PM मोदी की बैठक में शामिल नहीं होंगी ममता बनर्जी, शाम 6.30 बजे राज्यों के CM से कोरोना पर होनी है चर्चा

 जब मोदी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर बंगाल पहुंचे थे। मंच पर मोदी और ममता साथ थे, पर जय श्री राम के नारे लगने पर ममता नाराज हो गईं। तभी से वे मोदी के सरकारी कार्यक्रमों से किनारा कर रही हैं।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बैठक से किनारा कर लिया है। आज शाम 6.30 बजे कोरोना महामारी को लेकर होने वाली इस बैठक में बंगाल से राज्य के मुख्य सचिव हिस्सा लेंगे। इससे पहले 17 मार्च को हुई बैठक में भी ममता बनर्जी ने खुद को अलग कर लिया था। पश्चिम बंगाल चुनाव प्रचार अभियान के चलते दोनों नेताओं के बीच तल्खी बढ़ती जा रही है जिसका असर अब सरकारी कार्यक्रमों में भी दिखने लगा है।

वैक्सीनेशन पर भी चर्चा संभव

दो दिन पहले पीएम मोदी ने कोरोना के हालात पर रिव्यू मीटिंग की थी। इसके बाद अधिकारियों को कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए थे। उम्मीद की जा रही है कि राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में पीएम मोदी वैक्सीनेशन पर भी चर्चा करेंगे।

वैक्सीन को लेकर केंद्र और राज्यों में तकरार

महाराष्ट्र ने वैक्सीन की कमी की शिकायत की है। साथ ही इसकी क्षमता पर भी सवाल उठाया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने महाराष्ट्र के लिए कहा कि वहां की सरकार अपनी नाकामियां छिपाने के लिए हम पर आरोप लगा रही है। महाराष्ट्र में हालात वहां की सरकार की गलतियों की वजह से बिगड़े हैं और सरकार गलतियां दोहराती जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने पंजाब, महाराष्ट्र और दिल्ली सरकार को पत्र लिखकर वैक्सीनेशन बढ़ाने की बात कही है।

महाराष्ट्र के CM मोदी की बैठक में रखेंगे ये 4 मांगें

1. हर रोज 6 लाख से ज्यादा वैक्सीन की डोज दी जाए
2. रेमीडेसीवीर की कीमत पर नियंत्रण लगाया जाए
3. ऑक्सीजन की सप्लाई पड़ोसी राज्यों से बढ़ाई जाए
4. खराब पड़े वेंटीलेटर के लिए तकनीकी मदद दी जाए

देश में 24 घंटे में रिकॉर्ड केस सामने आए

देश में बुधवार को रिकॉर्ड 1 लाख 26 हजार 265 लोग संक्रमित पाए गए। कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा अब 1.29 करोड़ से अधिक हो गया है। सबसे ज्यादा कोरोना के मामले महाराष्ट्र, पंजाब, छत्तीसगढ़, केरल, कर्नाटक, गुजरात, दिल्ली और एमपी से आ रहे हैं। महाराष्ट्र में केंद्र ने अपनी 30 स्पेशल टीमें भेजी हैं। उधर, मध्य प्रदेश में हर जिले में संडे लॉकडाउन का ऐलान किया गया है। यहां बुधवार को ऑक्सीजन की कमी से 5 मरीजों की मौत हो गई।